ओ मेरेया मेहरमा (O Mereya Mehrama)

Image
 
ओ बुलंदी ते वस्सन वालेया  
कदे धरती ते नज़र तां मार
लूह छडेया कंडेयाँ ने पिंडा
तूं नूर दी चद्दर तां खिलार …!

कदे भूल के वी तूं भुलेया नही 
दर्द सिम्दा रेहा कदे जम्मेया नही 
तेरे नां दा तीर आर पार लंघेया 
कदे याद तां कर भुल जान वालेया…!

अखाँ मेरीयाँ चों नींदरे रुस गे 
हंझुआँ दे सैलाब आये ते मुड गे 
तूं दित्ती सी झलकारी जेह्डी रब वरगी 
कदे फेर वी विखा मुड के न आऊंन वालेया